Search Suggest

फिल्म आदिपुरुष के टीजर पर क्यों मचा है बवाल? क्या है विरोध का असली कारण?


Adipurush Teaser Review in Hindi 
Adipurush Controversy: Bollywood Movie आदिपुरुष का टीजर (adipurush teaser) सामने आते ही लोगों ने सैफ अली खान (Saif Ali Khan) के रावण के रोल को बुरी तरह रिजेक्ट कर दिया है. फिल्म में रावण बने सैफ के लुक से लेकर उनके पुष्पक विमान का भी जमकर मजाक उड़ रहा है. कई लोग Film को Hollywood की नकल बता रहे हैं. वहीं, राम के किरदार में प्रभास भी फैंस को उतने नहीं पसंद आए जितनी उम्मीद की जा रही थी. इसके बाद अब सोशल मीडिया पर #BoycottAdipurush ट्रेंड हो रहा है.


आप पढ़ रहे हैं Adipurush teaser review in hindi

इसके अलावा Adipurush फिल्म का Teaser देखकर लोग इसके खराब VFX को लेकर भी अपनी नाराजगी व्यक्त कर रहे हैं. अधिकतर लोगों का तो यह भी कहना है कि फिल्म में प्रभास और सैफ अली खान के कई सीन Hollywood फिल्मों और Shows जैसे Game Of Thrones, Aquaman और Rise of The Planet of The Apps से उड़ाए गए हैं.


मुकेश खन्ना ने रावण के लुक को बताया खिलजी जैसा

Adipurush teaser पर जबरदस्त बवाल जारी है. रावण के लुक में दिखे Saif Ali Khan की भी जमकर आलोचना की जा रही है. उन्हें रावण की जगह खिलजी बताया जा रहा है. महाभारत जैसे टीवी शो में भीष्म पितामह का दमदार किरदार निभाने वाले मुकेश खन्ना (Mukesh Khanna) ने इस पूरे विवाद पर खुलकर अपना पक्ष रखा है. उन्होंने भी Saif Ali Khan के रावण लुक को मुगलों (Mughals) से इंस्पायर बताया है.

मुकेश खन्ना ने कहा है कि ये रावण तो मोहम्मद खिलजी जैसा लगता है, ये हमारा रावण नहीं लगता है. Adipurush फिल्म में एक मुगल कैरेक्टर को मुगल लुक दे दिया गया है. कहां राम, कहां रामायण और कहां ये मुगल लुक. मजाक कर रहे हैं क्या आप? नहीं चलेगी ये फिल्म. अगर आपको लगता है सिर्फ VFX से फिल्म हिट हो जाएगी. 1000 करोड़ खर्च कर के रामायण नहीं बन सकती. रामायण उसके मूल्यों, आस्था, लुक और डायलॉग पर बनती है. 


अगर आप सच में रामायण नहीं Adipurush बनाते, जहां एक आदमी है, चमगादड़ उड़ रहे हैं, VFX का इस्तेमाल है, तो बात अलग थी. लेकिन आप दस सिर दिखा देंगे, उसको अलाउद्दीन खिलजी का लुक दे देंगे, तो लोग हंसेंगे ही ना आप पर. ये अच्छे संकेत नहीं है. इसका अंजाम अच्छा नहीं होगा. मैं इन पैसे वालों से कह दे रहा हूं कि अपने पैसों का इस्तेमाल हमारे सनातन धर्म के कैरेक्टर्स का बदलाव करने पर खर्च मत करो. खिलवाड़ करना है तो अपने धर्म से करो.  

मुकेश खन्ना आगे कहते हैं- "मुझे समझ नहीं आता ऐसे माहोल में जहां जगह-जगह Bollywood फिल्मों का Boycott हो रहा है, लोग बड़ी बड़ी फिल्मों को रिजेक्ट कर रहे हैं, ऐसे में रामायण को वीभत्स रूप में क्यों दिखाया जा रहा है. Adipurush में ना तो राम, राम दिख रहे है. ना रावण...रावण दिख रहा है. ना हनुमान...हनुमान दिख रहे हैं. फिर कोई विरोध करेगा तो आप कहेंगे हमें अभिव्यक्ति की आजादी है. मायफुट, आप अपने धर्म पर भी अभिव्यक्ति की आजादी यूज कर के दिखाइये ना?"


इसी के साथ मुकेश खन्ना ने सभी कैरेक्टर्स के लुक पर भी सवाल खड़े किए हैं. उन्होंने कहा कि हर एक भगवान का एक लुक है जो लोगों के दिलो दिमाग में बसा है. अगर आपने वही बदल दिया, तो आपने भले ही 400-500 या 900-1000 करोड़ फिल्म पर लगाए हों...आपकी फिल्म कत्तई नहीं चलेगी. क्योंकि आप उनकी आस्था का फायदा उठा रहे हो. अगर आप ऐसे लुक से चैलेंज करते हो कि ये हमारा राम, रावण या हनुमान है तो लोग अपनी उस आस्था को वापस ले लेंगे. फिर लोग आपको ऐसा थप्पड़ मारेंगे कि पता भी नहीं चलेगा. जैसे आजकल मारे जा रहे हैं, बिना फिल्म देखे ही Boycott किया जा रहा है. लेकिन फिर वही सवाल उठता है, सिर्फ हमारे धर्म पर ही क्यों? 


रामायण सीरियल की सीता ने भी किया 'Adipurush' के Teaser का Review 
(adipurush teaser review in hindi)

Adipurush के Teaser का Review 'रामायण' की सीता उर्फ दीपिका चिखलिया ने भी किया है. उन्हें भी VFX पसंद नहीं आया है. 

दीपिका चिखलिया ने कहा, "मैंने Adipurush का Teaser देखा है (adipurush teaser review in hindi) और मुझे लगता है कि रामायण की कहानी जो सच्चाई की कहानी है और सात्विक्ता की कहानी है. मुझे रामायण को VFX से जोड़ना बिलकुल सही नहीं लगा. यह मेरा पर्सनल ओपिनियन है. लोग बात कर रहे हैं कि किस तरह इस Film में हनुमान जी ने लेदर पहना है, अगर ऐसा है तो मुझे लगता है कि वाल्मिकी जी और तुलसी जी ने जिस सच्चाई के साथ कहानी ग्रंथ को लिखा है, उससे छेड़छाड़ नहीं होनी चाहिए. मुझे लगता है उसको हमें जरूर मेंटेन करना चाहिए, क्योंकि यह हमारे देश की धरोहर है."


adipurush teaser review in hindi:
देखने में आया है कि आजकल राष्ट्रीय न्यूज चैनलों पर आकर Adipurush फ़िल्म के डायलॉग राइटर मनोज मुंतशिर जोर शोर से सफाई दे रहे है। यह भी सही है कि पहले से मनोज मुंतशिर की एक सनातनी और राष्ट्रवादी छवि है जिसका प्रदर्शन वे अक्सर विभिन्न टीवी शो में आकर अपनी प्रस्तुति के अनोखे अंदाज से करते आये हैं. लेकिन इस बार उनकी सफाई और तर्कों के बाबजूद फ़िल्म Adipurush पर उठे विवादों का वे समुचित उत्तर नहीं दे पा रहे। 


उनके निहायत बचकाने तर्क को सुनकर आप विचलित हुए बिना नहीं रह सकते कि राम जी के पैरों में चमड़े का चप्पल अथवा हनुमान जी का ड्रेस चमड़े द्वारा निर्मित नहीं है बल्कि देखने में वैसा लगता है। यह तो वही बात हुई कि मनोज मुंतशीर ये समझाना चाह रहे हैं कि फ़िल्म के किसी पात्र की आंखों में असली आंसू नहीं होते हैं, उसके शरीर पर जो पसीने दिखते हैं वे पानी के स्प्रे होते हैं अथवा शरीर से जो खून बहता दिखाया जाता है वो मात्र कलर होता है।

सवाल उठता है की इतने बड़े राइटर को क्या इतनी सी भी समझ नहीं है कि फ़िल्म में पर्दे पर जो दृश्य प्रगट होता है दर्शक उसी को स्वीकार करता है उसके पीछे की असलियत से उसका क्या लेना देना?


Adipurush Movie में रावण की मूछें गायब कर तालिबानी दाढ़ी में दिखाने के पीछे की मानसिकता के लोगों ने शायद मनोज को मोहरा बनाकर इसलिए आगे कर दिया है कि तुम सनातनी शब्दावली में जनता को ठीक से समझा ले जाओगे कि इस फ़िल्म का निर्माता निर्देशक कोई विधर्मी नहीं वल्कि आपका अपना ही भाई बंधु है और डायलॉग राइटर के नाम मे लगे "मुंतशिर" पर मत जाइये वह सिर्फ पढ़ने में वैसा दिखता है पर वास्तव में "शुक्ला" है.

मनोज मुंतशीर (Manoj Muntashir) अब तुम चाहे कुछ भी कहो हमें तो यही लगता है कि ज्यादा सफलता और पैसे की चकाचौंध ने तुम्हारी अक्ल और आंखों पर चमड़े की मोटी पट्टी डाल दी है, भले ही वह किसी और चीज की बनी हो पर हमें तो यही दिखती है.

यह भी पढ़ें: Work From Home Jobs

adipurush teaser review in hindi के अंत में हम तो यही कहना चाहेंगे कि दर्शकों को कभी कम करके न आंको मनोज मुंतशिर शुक्ला ! Saif Ali Khan को रावण का किरदार देने पर बस इतना हीं कहूंगा कि दर्शकों ने तो एक समय रामायण सीरियल में माता कैकेयी के किरदार के लिए पद्मा खन्ना के चुनाव मात्र पर रामानंद सागर तक को खरी-खोटी सुना दी थी, भले हीं उन्होंने कैकेयी के किरदार के लिए एक खलनायिका की इमेज वाली अभिनेत्री के चयन को उचित माना था.

सनातन धर्म और संकृति पर चोट करना Bollywood की पुरानी परंपरा रही है लेकिन अब समय बदल चुका है। इस कृत्य का दंड अब पब्लिक Boycott के रूप में देने लगी है। इसके बाद भी कुछ लोग सुधरने को तैयार नहीं हैं, इसी का ताजा उदाहरण है Adipurush जैसी फिल्म। यदि Bollywood वाले अब भी नहीं सुधरे तो वो दिन दूर नहीं जब सभी सनातनी, राष्ट्रवादी मिलकर इन्हें सड़क पर लाकर खड़ा कर देंगे।


adipurush teaser review in hindi आपको कैसा लगा Comment करके जरूर बताएं और यदि पसंद आया हो तो इसे Share जरूर करें।

Copyright © SanjayRajput.com
All rights reserved.


adipurush teaser review in hindi,
adipurush movie review in hindi, 
adipurush film review in hindi, adipurush controversy in hindi, adipurush movie story in hindi, adipurush film ki kahani, adipurush film story in hindi, adipurush movie ki kahani in hindi, saif ali khan role in adipurush movie, prabhash role in adipurush movie


Post a Comment