Search Suggest

असली पठान ऐसे होते हैं?

दोस्तों, बॉलीवुड की एक और फिल्म आ रही है जिसमें पठानों को एक बार फिर से महिमामंडित करने का प्रयास किया गया है। 

पता नहीं शाहरुख खान की आगामी फिल्म "पठान" में किस दुनिया के पठान की कहानी दिखाई गई है लेकिन असली सच तो ये है कि हम सबने अभी कुछ ही दिनों पहले ऐसे ऐसे असली पठानो को देखा है, जो अपनी मां, बीवी और बच्चे तालिबान के हवाले छोड़ खुद सलवार पहन जहाज में लटक लटक कर भाग रहे थे। और शायद दुनिया ने इनसे ज्यादा जाहिल, गंवार कौम कभी नहीं देखा होगा जो डर के मारे भेड़ बकरियों की तरह हवाई जहाज के ऊपर तक चढ़ गए थे।


दोस्तों, जैसा कि आप सब जानते ही हैं कि हमेशा से अफगानिस्तान के पठानों की कहानियां बॉलीवुड में एक गुप्त एजेंडे के तहत बड़ी चालाकी के साथ दिखाई गई हैं। जैसे कि मानो पठान का बच्चा कभी किसी से नहीं डरता है। डी कंपनी के पैसों से बनी फिल्मों में अफगानिस्तान के लोगों का ऐसा महिमामंडन किया गया मानो दुनिया में उनसे बहादुर कौम कोई और नहीं। मानो वह 24 घंटे शेर के जबड़े में हाथ डालकर रहते हैं। 

मगर अभी पिछले दिनों यह पूरी दुनिया ने प्रत्यक्ष रूप से देखा की जब तालिबान ने अफगानिस्तान पर कब्जा कर लिया तो वहां के कायर और डरपोक पठान अपनी मां, औरतों और बच्चियों तक को छोड़कर भाग खड़े हुए। 


उसी समय बॉलीवुड वालों से ये सवाल पूछा जाना चाहिए था कि आखिर उनकी वह नकली कहानियां कहां गई जिसमें पठान का बच्चा शेर दिल दिखाया जाता है?

आपको याद होगा फिल्म जंजीर में एक डायलॉग था जिसे पठान का रोल निभा रहे प्राण बोलते हैं। वे कहते हैं-
"पठान का बच्चा मर जाएगा मगर पीठ दिखाकर नहीं भागेगा।" 

असली बात ये है कि फिल्म के लेखक सलीम जावेद थे, सलीम खुद अफगानिस्तान से भारत आए थे इसलिए उन्होंने पठानों का खूब महिमामंडन किया।


एक बार फिर बॉलीवुड ने पठानों को बेवजह वीर योद्धा और बहादुर दिखाने वाली फिल्म पेश की है जिसका नाम है पठान (Pathaan)। जिसमें पठानों को शूरवीर के रूप में दिखाया गया है और वो नकली मिट्टी के शेर बने हैं सीनियर सिटीजन हो चले शाहरुख खान। साथ ही उन्हें अपनी बेटी की उम्र की हीरोइन के साथ बेशर्मी की सारी हदें पार करते हुए रोमांस करते हुए भी दिखाया गया है।

दोस्तों आप सबने अभी पिछले दिनों अफगानिस्तान के असली पठानों की बहादुरी का सीधा प्रसारण तो सभी न्यूज चैनलों पर देखा ही है, इसलिए अब बॉलीवुड के इस नकली पठान की नकली बहादुरी और बेशर्मी देखने में अपना पैसा और समय बिल्कुल भी बर्बाद न करें।


बॉलीवुड हमेशा से हम सबको गुमराह और पथभ्रष्ट करता आया है और इसने आज तक हमारे समाज में गलत और भ्रामक जानकारी ही फैलाने का काम किया है। 

पठानों के बारे में सबसे सटीक जानकारी वही है जो पिछले दिनों हम सबने न्यूज चैनलों पर देखा था जब पूरी दुनिया इन पठानों की कायरता पर हंस रही थी जो अपनी बीवी, औरत, मां, बहन और बच्चों तक को छोड़कर अकेले अफगानिस्तान से भाग जाना चाहते थे।

इन कायर पठानों से अच्छे तो पश्चिम बंगाल में बचे हुए वे हिंदू लोग हैं जिन्होंने तृणमूल कांग्रेस के हमलों के चलते वहां से पलायन तो किया मगर अपनी औरत और बच्चों को छोड़कर नहीं भागे।


इन पठानों से अच्छे और बहादुर तो उत्तर प्रदेश के कैराना के वह हिंदू परिवार हैं जिन्होंने अपनी औरतों और बच्चों को साथ लेकर वहां से पलायन किया मगर इन डरपोक पठानों की तरह अकेले नहीं भागे।

हमारा काम है झूठ का पर्दाफाश करना और असली सच आप सबके सामने लाना। और इस लेख से अब ये बात तो आप सब समझ ही गए होंगे कि पठान कोई बहादुर नहीं बल्कि निहायत ही जाहिल, गंवार, कायर और डरपोक कौम होती है जिसे बॉलीवुड वाले एक गुप्त एजेंडे के तहत महिमामंडित करते आए हैं।

इस पोस्ट को अधिक से अधिक Share करें और जागरूकता फैलाने में सहयोग करें।


Pathaan Bollywood Movie Review in Hindi, Pathan Movie Review in Hindi,
Pathaan Movie Review in Hindi, Pathan first review in hindi, Pathaan film review in hindi, Pathan film kaisi hai, Pathan film me shahrukh khan, Pathan film me deepika padukone, Pathan bollywood movie story in hindi

एक टिप्पणी भेजें