Search Suggest

ये है कम उम्र में हार्ट अटैक आने की असली वजह

6 नवंबर 1985 की शाम बॉलीवुड (Bollywood) के मशहूर फिल्मस्टार संजीव कुमार (Sanjeev Kumar) को दूसरी बार हार्ट अटैक (Heart Attack) आया और अफसोस की इस बार उन्हें बचाया नही जा सका। मात्र 47 वर्ष की उम्र में हार्ट अटैक आने से लोग आश्चर्यचकित रह गए। पता चला कि उनके परिवार में हार्ट अटैक का इतिहास रहा था। संजीव कुमार (Sanjeev Kumar) से छोटे दो भाईयों की मृत्यु भी पहले हार्ट अटैक से ही हो चुकी थी । 


13 अक्टूबर 1987 की सुबह एक मनहूस ख़बर लेकर आयी। 12 अक्टूबर की रात को मशहूर सिंगर किशोर कुमार (Kishore Kumar) सोये तो फिर कभी जाग नही पाये। उन्हें नींद में ही दिल का दौरा (Heart Attack) पड़ा था। देखा जाये तो 58 साल कोई ज्यादा उम्र नही थी, वो भी एक खुश मिजाज और जिंदादिल इंसान किशोर कुमार (Kishore Kumar) को हार्ट अटैक आने की उम्र तो बिल्कुल नही थी । 

4 जनवरी 1994 की रात बॉलीवुड के मशहूर संगीतकार आरडी बर्मन (RD Burman) शक्ति सामंत के घर पार्टी में थे। '1942 ए लव स्टोरी' (1942- A Love Story) के गानों को मिल रही तारीफों से उनका आत्मविश्वास लौट आया था। उन्होंने घर पहुँचकर रात के दो बजे नहाकर ड्राइंगरूम में टीवी चलाया ही था कि घबराहट और ठंडा पसीना आना शुरू हो गया। नौकर ने डाक्टर को फोन किया, आशा भोंसले (Asha Bhosle) और खास दोस्तों को फोन किया लेकिन इन सबके वहां आने से पहले ही 'हार्ट अटैक' अपना काम कर चुका था। RD Burman साहब की उम्र भी तब सिर्फ 55 साल ही थी।


अभी हाल ही के दिनों में ऐसे बहुत से मामले सुनने में आये हैं जिनमे सिर्फ 35, 40, 45 साल के अच्छे भले स्वस्थ आदमी की मृत्यु हार्ट अटैक से हो गई। इनमें नियमित दिनचर्या वाले, रोजाना जिम जाने वाले तथा वेल मेंटेन लोग भी शामिल थे। 

आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि ऐसे अधिकतर मामलों में एक बेहद चौंकाने वाली बात सामने आयी है। डाक्टरों का कहना है कि ये सब हार्ट अटैक नही था। शरीर में विटामिन-डी (Vitamin-D) और कैल्शियम (Calcium) की कमी से हृदय (Heart) की माँसपेशियों (Muscles) को कैल्शियम (Calcium) मिल ही नही पा रहा था, जिसकी वजह से हार्ट (Heart) की मसल्स (Muscles) सूखे पत्ते जैसी हो गई थी और इन मरीजों की मौत हार्ट अटैक से नही बल्कि हृदय के टूटकर दो टुकड़े हो जाने की वजह से हुई थी। 

विटामिन D की कमी की वजह से हमारी बॉडी में कैल्शियम (Calcium) अब्जॉर्ब (Absorb) नही हो पाता। सच तो यह है कि कैल्शियम की प्रतिदिन जितनी जरूरत हमारे शरीर को है उसका 30% भी हम अपनी डाईट से पूरा नही कर सकते और ऊपर से यदि विटामिन-D की भी कमी हो तो जो दूध, दही, पनीर या अन्य कैल्शियम के स्त्रोत आप ले रहे हैं वो भी बेकार ही साबित होंगे। 

जैसे बच्चों के विकास और हाईट के लिये कैल्शियम (Calcium) बहुत जरूरी है, उसी तरह 40 वर्ष से अधिक की सभी महिलाओं और पुरुषों के लिये कैल्शियम की प्रॉपर डोज (Dose) बहुत जरूरी है और कैल्शियम को शरीर में बनाये रखने के लिये विटामिन-डी (Vitamin-D) बहुत जरूरी है । 

अभी हाल ही के दिनों में बॉलीवुड के उभरते हुए कलाकार सिद्धार्थ शुक्ला जैसे सुपर फिट एक्टर की असमय मृत्यु की भी यही वजह सामने आई है।

जरा सोचिए, क्या आपको याद है कि आपने पिछली बार अपना विटामिन-डी (Vitamin-D) और कैल्शियम (Calcium) टेस्ट कब करवाया था? यदि अभी तक नही करवाया है तो तुरन्त करवा लीजिये, क्योंकि इसकी कमी से असमय दिल टूटने से सब कुछ खत्म हो सकता है। ध्यान रखें रोजमर्रा की जिंदगी में आप अपनी सेहत का भी उतना ही ख्याल रखें जितना आप अपने अपनों का रखते है।

यदि आपको यह लेख पसन्द आया हो तो इसे अन्य लोगों को Share जरूर करें।

heart attack causes hindi, heart attack in hindi, causes of heart attack in hindi, causes of heart attack in young age, causes of heart attack in early age in hindi, heart attack ke karan in hindi, heart fail hone ke karan in hindi, heart attack kyon hota hai, heart fail kyo hota hai, heart attack kyon aata hai, heart attack kyon aate hai, heart attack kyo aata hai, heart attack kyon hoti hai, causes and risk factors of heart attack in hindi, heart attack kaise hota hai

Post a Comment