वक्त सबका आता है, धैर्य रखें

वर्ष 2004, दिनेश कार्तिक (Dinesh Kartik) नाम के एक युवा विकेट कीपर ने भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) में अपना डेब्यू किया। उनका क्रिकेट जीवन तेजी से आगे बढ़ रहा था तभी दिनेश कार्तिक ने वर्ष 2007 में अपनी बचपन की दोस्त निकिता वंजारा से शादी कर ली।

बचपन से ही एक दूसरे के करीबी दोस्त दिनेश और निकिता अपनी शादीशुदा जिंदगी में बहुत खुश थे। दिनेश रणजी ट्रॉफी में तमिलनाडु टीम की कप्तानी भी कर रहे थे।

दिनेश कार्तिक के एक खास दोस्त थे मुरली विजय (Murali Vijay), जो तमिलनाडु की टीम के ओपनर थे और बाद में भारतीय टीम का हिस्सा भी बने। 

एक दिन दिनेश कार्तिक की पत्नी निकिता की मुलाकात दिनेश के इसी साथी खिलाड़ी मुरली विजय से हुई। बस यहीं से शुरुआत होती है कार्तिक के बुरे दिनों की।

मुरली विजय को निकिता भा गयी। भोले भाले दिनेश कार्तिक इस बात को महसूस नहीं कर पाये। उधर निकिता और मुरली विजय के बीच नजदीकियां बढ़ने लगी तथा कुछ ही समय में दोनों का अफेयर शुरू हो गया। दोनों खुलकर एक दूसरे से मिलने लगे। यह बात दिनेश कार्तिक के अलावा पूरी तमिलनाडु की टीम जानती थी, की मुरली विजय अपने कप्तान दिनेश कार्तिक की पत्नी निकिता के साथ इश्क लड़ा रहे हैं। 

वर्ष 2012 में दिनेश कार्तिक की पत्नी निकिता प्रेगनेंट हो गई, तभी एक दिन उसने कार्तिक को बताया कि यह बच्चा मुरली विजय का है। यह सुनते ही दिनेश कार्तिक की जिंदगी में मानो भूचाल सा आ गया। इस बात से उनको गहरा सदमा लगा और वे बुरी तरह टूट गये। 

उन्होंने निकिता से तलाक ले लिया। तलाक के अगले ही दिन निकिता ने मुरली विजय से शादी कर ली और इस शादी के 3 महीने बाद ही निकिता ने एक बच्चे को जन्म दिया।

पत्नी निकिता की बेवफाई और अपने करीबी दोस्त मुरली विजय के विश्वासघात से दिनेश कार्तिक को इतना सदमा लगा कि वे डिप्रेशन में चले गये। 

दिनेश कार्तिक अपनी पत्नी और दोस्त मुरली के इस विश्वासघात को आसानी से भुला नहीं पा रहे थे। जिसके चलते वे सुबह से शाम तक शराब के नशे में डूबे रहने लगे। इसका सीधा असर उनके कैरियर पर पड़ा और उन्हें भारतीय टीम से बाहर कर दिया गया। फिटनेस खराब होने से रणजी ट्रॉफी में भी वे लगातार असफल होने लगे ।

नतीजा ये हुआ कि तमिलनाडु टीम की कप्तानी भी उनसे छीन ली गयी और मुरली विजय को नया कप्तान बना दिया गया।

दिनेश कार्तिक की असफलताओं का दौर यहीं नहीं थमा, उन्हें एक और तगड़ा झटका लगा जब उन्हें आईपीएल (IPL) में भी नहीं चुना गया। 

लगातार मिल रही असफलताओं से हताश और निराश दिनेश कार्तिक आत्महत्या तक करने की बात सोचने लगे थे।   

दिनेश कार्तिक ने जिम जाना भी छोड़ दिया था। तभी एक दिन उनके जिम ट्रेनर उनके घर पहुंचे, वहां उन्होंने दिनेश कार्तिक को बहुत बुरे हाल में पाया। उन्होंने दिनेश कार्तिक को पकड़ा और सीधा जिम लेकर आए। कार्तिक ने उन्हें मना भी किया लेकिन ट्रेनर ने उनकी एक न सुनी। 

उसी जिम में भारतीय स्क्वैश की महिला चैंपियन दीपिका पल्लीकल भी आया करती थी। जब उन्होंने एक मशहूर क्रिकेटर दिनेश कार्तिक की ये हालत देखी तो ट्रेनर के साथ मिलकर उन्होंने भी दिनेश कार्तिक की काउंसलिंग शुरू की। ट्रेनर और दीपिका की मेहनत रंग लाने लगी थी। दिनेश कार्तिक की स्थिति में सुधार होने लगा। 

दूसरी ओर मुरली विजय की परफॉर्मेंस लगातार खराब होती जा रही थी। जिसके चलते मुरली विजय को भारतीय टीम से बाहर कर दिया गया। बाद में उनकी खराब फॉर्म को देखते हुए IPL में Chennai Super Kings ने भी उन्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया।

दीपिका पल्लीकल के सहयोग से दिनेश कार्तिक एक बार फिर नेट पर जोरदार अभ्यास करने लगे। इसका असर भी दिखाई देने लगा और दिनेश कार्तिक घरेलू क्रिकेट में बड़े स्कोर बनाने लगे। शीघ्र ही उन्हें IPL में भी चुन लिया गया और Kolkata Knight Riders का कप्तान भी बना दिया गया । 

इस दौरान दिनेश कार्तिक उनको नया जीवन देने वाली दीपिका पल्लीकल के बहुत करीब आ चुके थे, इसलिए उन्होंने दीपिका से शादी कर ली।

अब दिनेश कार्तिक सदमे से पूरी तरह बाहर निकल एक नए जीवन की शुरुआत कर चुके थे। लेकिन इस सब के दौरान क्रिकेट के लिए दिनेश कार्तिक अब ज्यादा उम्र के हो चुके थे। भारतीय क्रिकेट टीम में अब ऋषभ पंत जैसे युवा खिलाड़ियों का आगमन हो चुका था। 

दिनेश कार्तिक समझ गए कि अब उनका क्रिकेट कैरियर लगभग समाप्त है। इसलिए उन्होंने क्रिकेट से सन्यास लेने का फैसला किया। इधर उनकी पत्नी दीपिका पल्लीकल प्रेग्नेंट हुई और उसने जुड़वा बच्चों को जन्म दिया। इसके चलते दीपिका का स्क्वाश खेलना भी रुक गया।

दीपिका और दिनेश कार्तिक की इच्छा थी कि उनका चेन्नई के संभ्रांत इलाके पोएस गार्डन में एक बंगला हो। वर्ष 2021 में चेन्नई के इसी इलाके में एक महलनुमा घर को खरीदने का ऑफर उनके पास आया। दिनेश कार्तिक ने उस घर को खरीदने का फैसला कर लिया। 

दिनेश कार्तिक के इस फैसले के बाद सभी आश्चर्य कर रहे थे कि ऐसे में जब दीपिका और दिनेश दोनों ही करीब-करीब खेल की दुनिया से बाहर हो चुके हैं, तब इतना महंगा सौदा वे कैसे पूरा करेंगे ?

तभी दिनेश कार्तिक को सूचना मिली की Chennai Super Kings की ओर से महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) उन्हें विकेटकीपर के रूप में वापस टीम में देखना चाहते हैं।

वर्ष 2022 के IPL का ऑक्शन शुरू हुआ, लेकिन इस बार चेन्नई की जगह रॉयल चैलेंजर बेंगलुरु की टीम ने उन्हें खरीद लिया।

दिनेश की पत्नी दीपिका ने भी फिर से स्क्वैश खेलना शुरू किया और अपने जुड़वा बच्चों के जन्म के महज 6 महीने बाद ही उन्होंने स्क्वैश की वर्ल्ड चैंपियनशिप में, ग्लास्गो शहर में मिक्स्ड डबल के साथ महिला युगल का खिताब जीत लिया। इस चैंपियनशिप में उनकी पार्टनर थी जोशना पुनप्पा।  

पत्नी की सफलता और नई टीम के साथ जुड़कर दिनेश कार्तिक में भी नई ऊर्जा का संचार हुआ और उन्होंने 2022 के आईपीएल में कमाल दिखाना शुरू कर दिया।

दिनेश कार्तिक ने IPL में एक के बाद एक मैच जिताऊ पारियां खेली और उन्हें 2022 के IPL का सबसे बड़ा फिनिशर माना जाने लगा। 

एक मैच में उन्होंने 8 गेंदों पर तीन छक्कों की सहायता से 30 रन ठोक डाले। मैच समाप्ति पर जब दिनेश ड्रेसिंग रूम पहुंचे तो विराट कोहली ने उन्हें झुककर सम्मान दिया। 

कभी अपनी जिंदगी से निराश होकर आत्महत्या करने जा रहे दिनेश कार्तिक आज 38 साल की उम्र में भारतीय क्रिकेट के सबसे धमाकेदार खिलाड़ियों में से एक हैं।

दिनेश कार्तिक द्वारा निराशा के अंधकार से बाहर निकल फिर से चमक उठने और हारकर जीत जाने की कहानी हम सभी के लिए प्रेरणा देने वाली है। 

नीचे गिरकर उठना किसे कहते हैं यह कार्तिक का जीवन हमें सिखाता है। सदैव संयम बनाये रखिये और परिस्थितियों से लड़ते रहिए, आप अपनी मंजिल तक अवश्य पहुंचेंगे। क्योंकि सबका वक्त एक दिन जरूर आता है।

"वक़्त पूजेगा हमें वक़्त हमें ढूँडेगा 
और तुम वक़्त के हम-राह चलोगे यारो"
Next Post Previous Post
No Comment
Add Comment
comment url