Search Suggest

क्या इसी तरह श्रद्धाओं को आफताब काटते रहेंगे?

Situation 1: 
श्रद्धा आफताब से प्यार करती थी लेकिन उसका परिवार धार्मिक अंतर के कारण शादी के लिए मना कर देता है। श्रद्धा आफताब के साथ भाग जाती है और उसके साथ रहना शुरू कर देती है। श्रद्धा आफताब को उससे शादी करने के लिए मजबूर करती है। आफताब ऐसा करने से मना करता है और उसका गला दबा देता है। इसके बाद वह उसके शरीर के 35 टुकड़े कर देता है और उन टुकड़ों को दिल्ली के 35 अलग-अलग स्थानों पर बिखेर देता है।

Situation 2: 
अब्दुल पूजा को पसंद करता है और उससे शादी का प्रस्ताव रखता है। पूजा ने मना कर दिया। झुंझलाए अब्दुल ने पूजा को चाकू मार दिया।

Situation 3: 
अंकित आसिफा से प्यार करता है। आसिफा भी अंकित से प्यार करती है। लेकिन आसिफा के परिवार को यह मंजूर नहीं था और वे अंकित को मार देते हैं।

Situation 4: 
आमिर स्नेहा से शादी करता है और उसे अपना धर्म बदलने के लिए कहता है। स्नेहा मना कर देती है। गुस्साए आमिर ने स्नेहा को मार डाला और उसके शरीर को एक सूटकेस में भरकर नदी में फेंक दिया।

Situation 5: 
अमीना अमित से शादी करती है और उसे अपना धर्म बदलने के लिए कहती है। अमित ने मना कर दिया। अमीना ने अमित को मार डाला।

Situation 6: 
हिमांग दीपाशा से प्यार करता है और उसे प्रपोज करता है। लेकिन दीपाशा अब्दुल भाई के साथ संपर्क में है और वह उसे हिमांग के बारे में बताती है। अब्दुल भाई अपने गिरोह के साथ हिमांग के कमरे में घुसकर उसे मारते हैं, जबकि दीपाशा कमरे को बाहर से बंद कर देती है ताकि हिमांग बच न सके।

इन सभी Situations में क्या Common है? 

जो पीड़ित होता है वह हमेशा हिंदू होता है और वह हमेशा शांतिदूत होता है जो क्रूर हत्यारा और पीड़ा देने वाला होता है।

गिरफ्तारियों के बावजूद शांतिदूतों की आक्रामकता के पीछे क्या रहस्य है?

वह जानता है कि उसकी गिरफ्तारी तो अस्थायी है और उसे अदालतों द्वारा 'सिस्टम तो उनका है' के रूप में मुक्त कर दिया जाएगा। इसके अलावा वामपंथी इकोसिस्टम और मीडिया उन्हें पीड़ित के रूप में दिखायेगा और बॉलीवुड की फिल्में दुष्ट चरित्र को हिंदू के रूप में दिखाकर उनके अपराध को पाक साफ कर देंगी।

वहीं दूसरी ओर यदि किसी भी तरह अपराधी हिंदू निकला, तो उनका इकोसिस्टम अपने फेक एक्टिविस्ट, मीडिया और अन्य प्रोपेगंडा मिल्स का इस्तेमाल करके चिल्ला चिल्लाकर इसे पूरी दुनिया के सामने 'भगवा आतंकवाद' साबित कर देंगे।

क्या इसी तरह...अब्दुल, आफताब, शाहरुख, सलमान या कोई और हिन्दू लड़कियों को अपने जाल में फंसाकर काटते रहेंगे और लिब्रांडु, सेक्युलर कीड़े और बॉलीवुड की फिल्में लव जिहाद को बढ़ावा देती रहेंगी...??

एक बार सोचिएगा जरूर....

Post a Comment