Search Suggest

Heart Attack के लक्षण और बचाव

क्या आप जानते हैं कि भारत में सबसे ज्यादा मौतें कोलस्ट्रोल (Cholestrol) बढ़ने के कारण हार्ट अटैक (Heart Attack) आने से होती हैं। आपके अपने घर में ही ऐसे कई लोग होंगे जिनका वजन व कोलस्ट्रोल (Cholestrol) बढ़ा हुआ होगा।

बड़ी बड़ी अमेरिकन कंपनियां भारत में दिल के रोगियों (heart patients) को अरबों रुपए की दवायें (Medicines) बेच रही हैं।
लेकिन अगर आपको जरा भी तकलीफ हुई तो डॉक्टर तुरंत एन्जीओप्लास्टी (Angioplasty) कराने की सलाह देगा।

एन्जीओप्लास्टी क्या है? What is Angioplasty 

Angioplasty के ऑपरेशन मे डॉक्टर दिल की नली में एक Spring डालते हैं जिसे stent कहते हैं। यह stent अमेरिका (USA) में बनता है और इसका cost of production सिर्फ 3 डॉलर या ₹239/- है। इसी stent को भारत मे लाकर 3-5 लाख रूपए मे बेचाकर आपको लूटा जाता है। 

Angioplasty में डॉक्टरों (Doctors) को लाखों रूपए का commission मिलता है इसलिए वह आपसे बार बार कहता है कि Blockage है Angioplasty करवाओ।

सच तो ये है कि Heart Attack आने की असली वजह ही Angioplasty ऑपरेशन है। यह कभी किसी का सफल नहीं होता। क्योंकि डॉक्टर, जो Spring दिल की नली मे डालता है वह बिलकुल एक पेन की Spring की तरह होती है। कुछ ही महीनो में उस Spring की दोनों साइडों पर आगे व पीछे Blockage (Cholestrol व Fat) जमा होना शुरू हो जाता है। 

इसके बाद फिर आता है दूसरा हार्ट अटैक (heart attack) तब डॉक्टर कहता है फिर से Angioplasty करवाओ। फिर Doctor आप से लाखो रूपए लूटता है और इस तरह आप अपनी गाढ़ी कमाई और जिंदगी दोनों खो देते हैं।

आइए अब आपको कुछ ऐसे मुफ्त और आसान घरेलू उपाय बताते हैं जिन्हें आजमाकर आप ऊपर बताई गई झंझटों और लाखों के खर्च से तो बचेंगे ही साथ ही स्वस्थ, निरोग और दीर्घायु भी रहेंगे।

how to prevent heart attack?
heart attack treatment hindi

अदरक (ginger juice) 

यह खून को पतला करता है। यह दर्द को प्राकृतिक तरीके से 90% तक कम करता है।

लहसुन (garlic juice) 

लहसुन एक नेचुरल Blood Thinner है।
इसमें मौजूद Allicin तत्व Cholesterol व Blood Pressure को कम करता है व हार्ट ब्लॉकेज (Heart Blockage) को खोलता है।

नींबू (lemon juice) 

इसमें मौजूद antioxidants, vitamin C व potassium खून को साफ़ करते हैं।
ये रोग प्रतिरोधक क्षमता (immunity) को बढ़ाते हैं।

सेव का सिरका ( apple cider vinegar) 

इसमें 90 प्रकार के तत्व हैं जो शरीर की सारी नसों को खोलते है, पेट साफ़ करते हैं व थकान को मिटाते हैं।

हार्ट अटैक के लक्षण क्या हैं?
heart attack symptoms in hindi

Heart attack के मुख्य लक्षणों में सीने में दर्द होना 

सीने में काफी दबाव, हैवी और टाइटनेस महसूस होना

Heart में सिर्फ बाएं तरफ ही दर्द नहीं होता बल्कि बीच में या दाए तरफ भी दर्द हो सकता है.

ये दर्द पेट से ऊपर की ओर जाता है कई बार बाए हाथ या कंधे की ओर जाता है.

कई बार जबड़े या दांत में भी दर्द हो सकता है.

कोई काम करने या चलने में दर्द बढ़ता है. आराम करने पर कम होता है.

सांस की तकलीफ होती है और पसीना आता है.

कई बार ऐसा लगता है जैसे गैस हो रही है उसकी वजह से बेचैनी हो रही है. 

Heart Attack आने के कुछ समय पहले कमजोरी लगना और चक्कर आने की समस्या हो सकती है या ठंडा पसीना आना, जैसे Symptoms दिख सकते हैं. जबड़े, गर्दन और पीठ में एक साथ दर्द या बेचैनी का अनुभव हो सकता है. सांस, ठीक से सांस ना ले पाना और छोटी-छोटी सांस भर पाने जैसी स्थिति हो सकती है.

हार्ट अटैक (Heart Attack) आने पर क्या करें? (heart attack ane par kya kare)
heart attack medicine name

अगर आपको इनमें से कोई भी लक्षण (Symptoms) महसूस हो रहा है तो सबसे पहले आप Doctor या Ambulance को बुलाएं. अपने पास पर्स में और घर पर हमेशा डिस्प्रिन (Disprin) इकोस्प्रिन (Ecosprin) या एस्प्रिन (Aspirin) की tablets रखें. जब भी आपको Heart में ऐसा कोई भी लक्षण लगे तो तुरंत इनमें से कोई एक दवा खा लें. ये तीनों दवाएं बल्ड क्लॉटिंग (Blood Clotting) को रोकती हैं. अगर घर में कोई हार्ट पेशेंट (Heart Patient) है तो sorbitrate की 5mg की Tablet घर में रखें. हार्ट अटैक (Heart Attack) जैसे कोई भी Symptoms दिखें तो इसकी एक Tablet तुरंत मरीज की जीभ के नीचे रख दें. इससे दर्द कम होगा.

यदि आपको यहां दी गई जानकारी पसंद आई हो तो इसे Share जरूर करें।


how to prevent heart attack, heart attack kyu aata hai hindi, heart attack kya hai, heart attack kyo ata h, heart attack ke lakshan, What is Angioplasty, heart attack symptoms in hindi, heart attack causes in hindi, heart attack treatment in hindi, heart attack medicine name, heart attack ane par kya kare, heart attack ane pr kya kre


Post a Comment