Header Ads

सुशान्त सिंह राजपूत की हुईं थी हत्या, शामिल थे बॉलीवुड के ये लोग, पढ़ें पूरी कहानी...

इसे बहुत ध्यान से पढ़ें, इस पर विश्वास करना या न करना पूरी तरह आप पर निर्भर है...

अभी कुछ ही दिनों पहले हम सबने बॉलीवुड के तेजी से उभरते हंसमुख और जिंदादिल एक्टर सुशांत सिंह राजपूत के आत्महत्या की खबर सुनी थी। हम में से किसी को भी यकायक तो इस खबर पर यकीन ही नहीं हुआ क्योंकि सुशांत एक सक्सेसफुल, एचीवर और टॉपर व्यक्तित्व था। उसने अपने दम पर अपना मुकाम हासिल किया था बॉलीवुड में, वो भी बिना किसी बैकग्राउंड के सिर्फ और सिर्फ अपनी काबिलियत के दम पर। और ऐसे लोग ऐसा कायरता पूर्ण कदम नहीं उठाते। ऐसे लोग कभी आत्महत्या नहीं करते।

फिर तमाम खबरें सुनने में आयीं, तरह तरह की अफवाहें भी उड़ीं...बालीवुड में फैले नेपोटिज्म पर कई कलाकारों ने खुलकर अपना पक्ष भी रखा।

तमाम खबरों और जानकारियों के बाद सुशांत सिंह राजपूत की हत्या जिसे आत्महत्या साबित किया गया उसके पीछे की असली कहानी जो उभरकर सामने आई है वह इस प्रकार है...

सुशांत सिंह राजपूत की हत्या के मामले में शामिल मुख्य पात्र सूरज पंचोली (आदित्य पंचोली का बेटा) और सलमान खान हैं, ठीक उसी तरह जैसे जिया खान की रहस्यमयी आत्महत्या केे मामले में।

देखिए तो यह कहानी इस तरह से चलती है...

 भाग 1: सुशांत अपने मैनेजर दिशा के बहुत करीब थे जिनका सूरज पंचोली नाम के लड़के के साथ अफेयर चल रहा था।  इस अफेयर के बारे में सुशांत के अलावा किसी को नहीं पता था।  उन्होंने इसे एक गुप्त प्रसंग के रूप में रखा।

 भाग 2: सुशान्त की मैनेजर दिशा प्रेग्नेंट थी और वह सूरज पंचोली के बच्चे की मां बनने वाली थी, ठीक उसी तरह जैसे जिया खान गर्भवती हुई थी। सूरज पंचोली दिशा का एबॉर्शन चाहता था और उसने उस बच्चे को अपनाना नहीं चाहा और दिशा से नाता तोड़ लिया, जिसके चलते सुशांत का सूरज के साथ झगड़ा हुआ और इस प्रकार वो सलमान की बैड बुक में आ गया।

 भाग 3: सुशांत की मैनेजर दिशा को सूरज पंचोली द्वारा बार-बार चेतावनी दी गई गर्भपात कराने के लिए, लेकिन वह ऐसा नहीं चाहती थी और बच्चे को उसी तरह रखना चाहती थी जिस तरह से जिया खान भी बच्चे को रखना चाहती थी।

 भाग 4: सुशांत सब कुछ जानता था कि उनके भीतर क्या कुछ चल रहा था। दिशा जो सुशांत में एक अच्छा दोस्त देखती थी और उसे सब कुछ बताती थी। इसलिए वह दिशा से सहमत था और बच्चे को रखने के पक्ष में उसके साथ डटकर खड़ा था।

 भाग 5: एक दिन जब दिशा फोन पर सुशांत के साथ अपने मन की स्थिति और वर्तमान परिदृश्य के बारे में बात कर रही थी उसी वक्त सूरज दिशा के अपार्टमेंट में पहुंचा और दिशा ने फोन रख दिया।

 भाग 6: और इसके कुछ समय बाद ही एक कॉमन फ्रेंड संदीप सिंह ने सुशांत को फोन कर बताया कि दिशा ने अपने अपार्टमेंट की 14 वीं मंजिल से कूदकर आत्महत्या कर ली है।  

तो क्या यह वास्तव में आत्महत्या थी? या किसी ने उसे 14 वीं मंजिल से धक्का देकर उसकी हत्या की थी?

 भाग 7: सुशांत जो हर चीज के बारे में जानता था, वह अब इसके बारे में बहुत कुछ छिपाने को तैयार नहीं था और वह इन सबके बारे में मीडिया में खुलकर अपनी आवाज उठाने वाला था। जिसके बारे में उसने अपनी गर्लफ्रैंड रिया और अपने सबसे अच्छे दोस्त संदीप के साथ चर्चा भी की थी। यहां तक ​​कि उन्होंने उसे अपना मुंह बंद रखने का सुझाव भी दिया था। लेकिन जिस सुशांत ने कभी अपराध का समर्थन नहीं किया हो, वह सब कुछ जानते हुए भी चुप कैसे रह सकता था?

 भाग 8: कहानी का क्लाइमेक्स...
सुशांत की गर्लफ्रैंड रिया ने एक तरफ महेश भट्ट के साथ हर बात शेयर की, वहीं दूसरी ओर सूरज के मुखबिर के रूप में काम करने वाले संदीप ने सुरज को सुशांत द्वारा मीडिया को दिशा और सूरज के बारे में सबकुछ बयाँ करने की उसकी योजना के बारे में बताया, जो सूरज के पूरे करियर को बर्बाद कर सकता था क्योंकि उसे पहले से ही अतीत में जिया खान के हत्यारे के रूप में टैग किया गया था।

 भाग 9: इसलिए उन्होंने सभी राजनीतिक दलों और अंडरवर्ल्ड के हस्तक्षेप के साथ सलमान, भट्ट के बैकअप के साथ सुशान्त की हत्या की योजना बनाई। इस हत्या को संदीप सिंह के हाथों अंजाम दिया गया था, जो आत्महत्या वाली रात सुशान्त के घर पर ही मौजूद था।

तमाम पहलुओं और घटनाक्रम पर गौर किया जाए तो ये सब सुशान्त सिंह राजपूत के प्री-प्लांड मर्डर की ओर ही इशारा करते हैं।

 #WeWantJusticeforSushant
 #CBIEnquiryForSushant

हम CBI Enquiry चाहते हैं, लेकिन हम नहीं चाहते हैं कि जैसी भ्रष्ट सीबीआई जांच जिया खान के मामले में हुई थी वैसी जांच हो।

हम सुशान्त सिंह राजपूत के लिए जस्टिस चाहते हैं...हम बॉलीवुड में लंबे समय से चल रहे इस आत्महत्या के झूठे खेल की नंगी सच्चाई सबके सामने लाना चाहते हैं।

यदि आप भी मेरी इन बातों से सहमत हैं तो सत्य की इस लड़ाई में मेरा साथ देने के लिए इस पोस्ट को अधिक से अधिक शेयर करें।

Story Credit- Ankit Jha (Juvenile Writer)

No comments:

Powered by Blogger.