Header Ads

क्या गर्मी, धूप, शराब या लहसुन से मर जायेगा कोरोनावायरस? जानें इन अफवाहों का सच..

कोरोनावायरस बहुत तेजी से हमारे देश में भी फैल रहा है और इसे रोकने हेतु सरकार पूरी तरह सतर्क है। परन्तु इस खतरनाक महामारी से सुरक्षित रहने के लिए हर व्यक्ति को जागरूक होना बहुत जरूरी है तभी इस बीमारी से हम सब सुरक्षित रह सकते हैं और अपने परिवार को भी सुरक्षित रख सकते हैं। क्योंकि अफवाहों से बचना और सही जानकारी रखना बहुत जरूरी है। तो आइये जानते हैं कोरोना को लेकर फैली तमाम अफवाहों का सच और सही जानकारी...

कोरोना को लेकर आजकल अपने देश में तमाम अफवाहें फैली हुई हैं जैसे कि...गर्मी से कोरोना का वायरस मर जाएग, शराब पीने और शरीर पर छिड़काव करने से कोरोना का इन्फेक्शन नहीं होगा, लहसुन खाने से कोरोना नहीं फैलेगा, गर्म पानी से नहाने से इससे बच सकते हैं, एंटीबायोटिक दवाओं को खाकर कोरोना से बच सकते हैं, इम्युनिटी बढ़ाने से इससे बच सकते हैं, बुजुर्गों को अधिक खतरा है आदि आदि। 
आईये जानें कि इन सब अफवाहों में कितनी सच्चाई है...

कोरोना का वायरस 25 डिग्री से ऊपर के तापमान में जिंदा नहीं रहता। यह बात पूरी तरह गलत साबित हो रही है क्योंकि आस्ट्रेलिया में 40 डिग्री के तापमान में भी कोरोना बहुत तेजी से फैला है। इसलिए ऐसा सोचना पूरी तरह गलत है कि गर्मी बढ़ने पर कोरोना नहीं फैलेगा। 36-37 डिग्री के बॉडी temperature पर भी इसका वायरस शरीर में जीवित रहता है। इसलिए हॉट बाथ से भी कोई फायदा नहीं होगा।
एक और अफवाह के अनुसार अल्कोहल पीने और शरीर में पोतने से कोरोना का वायरस मर जाएगा। यह भी पूरी तरह निराधार साबित हो चुका है। कोरोना से बचने के लिए 60-70% अल्कोहल युक्त सेनिटाइजर से हाथ धोना जरूरी है न कि अल्कोहल को किसी और तरह से प्रयोग करना।

क्या एंटीबायोटिक दवाएं रोक सकती हैंं?
क्या मच्छरों से भी फैलता है कोरोना?
क्या लहसुन खाने से कोरोना से बच जाएंगे?
क्या बुजुर्गों को ज्यादा खतरा है?
क्या कोरोना की कोई दवा है?

WHO द्वारा नीचे बताई गयी सावधानियां बरतकर COVID -19 के संक्रमित होने या फैलने की संभावनाओं को कम कर सकते हैं..

अपने हाथों को अल्कोहल-आधारित सेनिटाइजर से नियमित रूप से और अच्छी तरह से साफ करें या उन्हें साबुन और पानी से धोएं। क्योंकि अपने हाथों को साबुन और पानी से धोना या अल्कोहल-आधारित हाथ रगड़ना उन वायरस को मारता है जो आपके हाथों पर हो सकते हैं।

कम से कम 1 मीटर (3 फीट) की दूरी पर अपने आप को और किसी को भी, जो खांस रहा है या छींक रहा है, के बीच दूरी बनाए रखें। क्योंकि जब किसी को खांसी या छींक आती है तो वे अपनी नाक या मुंह से छोटी तरल बूंदें छिड़कते हैं जिनमें वायरस हो सकता है। यदि आप बहुत करीब हैं, तो आप खांसी में सांस ले सकते हैं, जिसमें Covid ​​-19 वायरस भी शामिल है यदि खांसी करने वाले व्यक्ति को यह बीमारी है।

आंखों, नाक और मुंह को छूने से बचें।
क्योंकि हाथ कई सतहों को छूते हैं और वायरस उठा सकते हैं। एक बार दूषित होने पर, हाथ वायरस को आपकी आंखों, नाक या मुंह में स्थानांतरित कर सकते हैं। वहां से, वायरस आपके शरीर में प्रवेश कर सकता है और आपको बीमार कर सकता है।

सुनिश्चित करें कि आप, और आपके आस-पास के लोग, अच्छी श्वसन स्वच्छता का पालन करें। इसका मतलब है खांसी या छींक आने पर अपनी मुड़ी हुई कोहनी या टिशू से अपने मुंह और नाक को ढंकना। फिर इस्तेमाल किए गए टिशू का तुरंत डिस्पोजल करें। क्योंकि बूंदों से वायरस फैलता है। अच्छी श्वसन स्वच्छता का पालन करके आप अपने आसपास के लोगों को सर्दी, फ्लू और Covid ​​-19 जैसे वायरस से बचाते हैं।

यदि आप अस्वस्थ महसूस करते हैं तो घर पर रहें। यदि आपको बुखार, खांसी और सांस लेने में कठिनाई है, तो चिकित्सा पर ध्यान दें और पहले से फोन करें। अपने स्थानीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के निर्देशों का पालन करें। क्योंकि आपके क्षेत्र की स्थिति की जानकारी के लिए राष्ट्रीय और स्थानीय अधिकारियों के पास सबसे अधिक व्यवस्था होगी। अग्रिम में कॉल करने से आपका स्वास्थ्य देखभाल प्रदाता आपको जल्दी से सही स्वास्थ्य सुविधा के लिए निर्देशित कर सकेगा। यह आपकी रक्षा भी करेगा और वायरस और अन्य संक्रमणों को फैलने से रोकने में मदद करेगा।

नवीनतम COVID-19 हॉटस्पॉट (शहर या स्थानीय क्षेत्र जहां COVID-19 व्यापक रूप से फैल रहा है) पर अद्यतित रहें। यदि संभव हो, तो स्थानों की यात्रा करने से बचें। खासकर यदि आप एक उम्रदराज व्यक्ति हैं या आपको मधुमेह, हृदय या फेफड़ों की बीमारी है। क्योंकि आपके पास इनमें से किसी एक के कारण COVID-19 से संक्रमण का अधिक खतरा है।
 
उन लोगों के लिए सुरक्षा उपाय जो हाल ही में (पिछले 14 दिनों के) क्षेत्रों में गए हैं, जहां COVID-19 फैल रहा है, ऊपर दिए गए मार्गदर्शन का पालन करें (सभी के लिए सुरक्षा उपाय)

जब तक आप ठीक न हों, हल्के लक्षणों जैसे कि सिरदर्द, निम्न दर्जे का बुखार (37.3 C या इससे अधिक) और हल्की नाक बहना, तब तक घर पर रहकर स्वयं को अलग-थलग कर लें, जब तक आप ठीक नहीं हो जाते। यदि आपके लिए घर से बाहर जाना अति आवश्यक है कि तो फिर अन्य लोगों को संक्रमित करने से बचने के लिए मास्क पहनें।

क्योंकि दूसरों के साथ संपर्क से बचने और चिकित्सा सुविधाओं का दौरा करने से ये सुविधाएं अधिक प्रभावी ढंग से संचालित हो सकेंगी और आपको और अन्य को संभव COVID-19 और अन्य वायरस से बचाने में मदद मिलेगी।

यदि आपको बुखार, खांसी और सांस लेने में कठिनाई होती है, तो तुरंत चिकित्सीय सलाह लें क्योंकि यह श्वसन संक्रमण या अन्य गंभीर स्थिति के कारण हो सकता है। अग्रिम में कॉल करें और किसी भी हाल की यात्रा के अपने प्रदाता को बताएं या यात्रियों के साथ संपर्क करें।

क्योंकि अग्रिम में कॉल करने से आपका स्वास्थ्य देखभाल प्रदाता आपको जल्दी से सही स्वास्थ्य सुविधा के लिए निर्देशित कर सकेगा। यह COVID-19 और अन्य वायरस के संभावित प्रसार को रोकने में भी मदद करेगा।



-WHO की आधिकारिक वेबसाइट who.int  के अनुसार

No comments:

Powered by Blogger.