Header Ads

क्या मोदी को समझना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है?

2014 के चुनाव के बाद मोदीजी ने अपना पूरा ध्यान नार्थईस्ट पर लगा दिया था...उन 7 राज्यों में शांति बहाली और वहां के इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने में पूरी ताकत झोंक दी थी।

इस चक्कर मे कई बड़े राज्य भी हार गए...हम सोचते रहे...10-15 सीटों के लिए मोदीजी पगलाए हुए हैं...मगर ऐसा नही था...हम गलत थे।

आज शाहीनबाग का एक वीडियो आप सबने देखा होगा...जिसमे नार्थईस्ट को मुख्य भारत से जोड़ने वाली चिकननेक को काटकर नार्थईस्ट को भारत से अलग करने की बात कही जा रही है।
और अब तो कांग्रेस के लोग खुलेआम टीवी चैनलों पर 25 करोड़ मुसलमानों के लिए अलग देश की मांग कर रहे हैं।

क्या है चिकन नैक? 

ध्यान से देखिये इस नक्शे को...
बंगलादेश और नेपाल के बीच का संकरा गलियारा। धीरे धीरे इसे मुस्लिम बहुल बना दिया गया है। सरजील इमाम ने यह योजना शाहीन बाग में बताई है। इस क्षेत्र पर कब्जा करना है। ताकि आर्मी की सप्लाई और आर्मी को आवाजाही बंद कर दो। ताकि नार्थ ईस्ट में बवाल काटा जाए। इसके लिए 5 लाख मुस्लिम लड़ाके तैयार कर लिए गए हैं। 

कौन है सरजील इमाम? 

वही जिसने शाहीन बाग आरम्भ किया था। उनका कहना है कि हम इस पर कब्जा कर लेंगे। उसे बृहत बंगाल बना लेंगे। जिसका नक्शा आप पहले भी देख चुके हैं।

यदि आप सरजील को एक उन्मादी युवा मात्र समझ रहे हैं तो अबोध हैं, अज्ञानी हैं। दरअसल सरजील और कन्हैया कुमार जैसे लोग एक देशद्रोही विचारधारा हैं।

आप यह कहकर पल्ला नहीं झाड़ सकते कि भाजपा की सरकार ने क्या किया तब। मूल प्रश्न तो यह होना चाहिए कि ऐसे लोगों के पीछे कौन से लोग हैं और जो लोग हैं उन्हें हम भी जानते हैं आप भी जानते हैं।

मोदीजी को ये सब पहले से पता था...वो जानते थे कि सत्ता से बाहर होने के बाद कांग्रेस किस तरह की साजिशें करेगी...और उन्होंने पहले दिन से उन साज़िशों की काट तैयार करनी शुरू कर दी थी।

हमे ये बातें समझ मे नही आईं...हम यही सोचते रहे कि नार्थईस्ट की 10-15 सीटों के लिए मोदीजी बावले हुए पड़े हैं...मगर ऐसा नही था...उस इंसान ने कभी अपने या पार्टी के फायदे के लिए कुछ नही किया...उसने हमेशा देश की एकता और अखंडता को मजबूत बनाए रखने के लिए काम किए।

एक बात को समझिए...मोदी हमेशा नही रहेंगे...न हम हमेशा रहेंगे...लेकिन ये देश हमेशा रहेगा...और जब-जब इस देश पर मुश्किलें आएंगी...कोई न कोई मोदी आएगा...और उसके साथ उसके भक्त भी आएंगे।

इस बार ये जिम्मेदारी हमारी है...अपने आस-पास के लोगों को जागरूक कीजिए...दिन भर में जितने भी लोगों से मिलते हैं...उन्हें जागरूक कीजिए...खासकर युवाओं को। ये हमारी जिम्मेदारी है कि हम अपने पीछे एक ऐसी पीढी छोड़कर जाएं...जिसके खून में देशभक्ति हो।

वन्दे मातरम!!
जय हिंद!!

No comments:

Powered by Blogger.